बुद्धि परीक्षण Intelligence test


बुद्धि परीक्षण Intelligence test

प्रिय पाठको अगर आपको हमरा प्रयास अच्छा लगा या आप कोई सुझाव देना चाहते है तो यहाँ क्लिक करके कमेंट अवस्य करे –  click Here

मनोविज्ञान के सभी टॉपिक हिंदी में पढने के लिए यहाँ क्लिक करे – Click Here For Read psychology All Topic in Hindi

  • यूरोप में भी सर्वप्रथम शारीरिक लक्षणों को बुद्धि का आधार बनाया गया |
  • स्विट्ज़रलैंड के प्रसिद्ध विद्वान लैवेटन  ने 1772  को विभिन्न शारीरिक लक्षणों को  बुद्धि का आधार घोषित किया |
  • वुंट  की प्रयोगशाला ( 1879)  मैं बुद्धि का माप यंत्रों की सहायता से  किया जाता था |
  • वुंट से प्रोत्साहित होकर अन्य देशो के मनोवैज्ञानिकों ने बुद्धि परीक्षा का कार्य आरंभ किया – बिने(फ्रांस ) ,विन्च   थॉर्नडाइक ( इंग्लैंड) ,टर्न ( अमेरिका) ,मैनमान( जर्मनी)
  • सबसे अधिक सफलता प्राप्त हुई बिने को
  • साइमन की सहायता से `बिने – साइमन बुद्धि मानक्रम `का निर्माण किया |
  • टरमन मैं इसे  संशोधन करके ` स्टैनफोर्ड – बिने मानक्रम ` नाम दिया |

(स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में)           या         `टरमन बुद्धि परीक्षण`

  • भारत में उत्तर प्रदेश राज्य की इलाहाबाद स्थित मनोविज्ञान शाला में बिने साइमन परीक्षण का संसोधन किया |
  • सन 1838 में एस्किवरल  नाम फ्रांसीसी चिकित्सक ने भाषा स्तर को अधर मानकर मंद बुद्धि लोगो का बौद्धि स्तर ज्ञात किया  |
  • बिने साइमन अमेरिका में प्रचार  गोडार्ड ( 1908 )
  • टरमन का संशोधन “ स्टैंडर्ड रिवजीन “ कहलाता है |(1916)
  • टरमन + मैरिल का संसाधन`न्यू स्टेनफोर्ड रिविजन कहलाता है(1935 )
  • सिरिल बर्ट `लन्दन ` का संसोधन `लन्दन रिविजन ` कहलाता है |
  • सबसे महत्वपूर्ण कार्य विलियम स्टर्न का है  जिसने  बुद्धि लब्धि सिद्धांत का निर्माण किया |
  • बुद्धि- लब्धि का सुत्र  सर्वप्रथम टरमन  ने दिया (1916)

 

 

बुद्धि -लब्धि (iq)  =    मानसिक आयु/वास्तविक आयु

 

प्रिय पाठको अगर आपको हमरा प्रयास अच्छा लगा या आप कोई सुझाव देना चाहते है तो यहाँ क्लिक करके कमेंट अवस्य करे –  click Here

भागफल 1 आने पर सामान्य बुद्धि , 1 से अधिक आने पर तीव्र बुद्धि ,1 से कम आने पर मंद बुद्धि

आजकल सुविधा के लिए 100 से गुना भी करते हैं |

  • यद्यपी विलियम स्टर्न ने बुद्धि लब्धि के अंक का आविष्कार किया (1912 ) परन्तु उसका व्यापक प्रचार टरमैन ने ही किया (टरमन) (1916)

 

टरमन का बुद्धि का वर्गीकरण

 

 

140 से अधिक                                         –  प्रतिभाशाली

120 – 139                                              – अतिप्र्खर

110 – 119                                               – प्रखर / तीव्र बुद्धि

90 – 109                                                – सामान्य / औसत बुद्धि

80 – 89                                                   – मंद / पिछडे

70 – 79                                                   – निर्बल / क्षीण / हिन

50 – 69                                                    – मुर्ख

25 – 49                                                    – मूढ़

25 से कम                                             – जड

 

 

मानसिक आयु का विचार 1908 में बिने ने दिया |

 

 

बर्ट का वर्गीकरण : –

 

  • वकील, डॉक्टर, अध्यापक, प्रशासकीय व्यवसाय हेतु –    150 बुद्धि लब्धि |
  • निम्न श्रेणी के प्रशासकीय कार्य हेतु –   130  – 150
  • टाइपिस्ट, विक्रेता, नर्स, कलटीकल कार्य हेतु                        –  115 से 130
  • दर्जी ,बढई, दक्षता  पूर्ण कार्य हेतु                                       –  100 से 115
  • अर्द्धदक्षता -नाई, खदान कर्मचारी हेतु                                 –   85 से 100
  • अदक्षता – श्रमिक, पैकर                                                 –  75 से 85
  • निम्न कोटि श्रमिक                                                          –  50 से 70
  • 50 से कम बुद्धि लब्धि वाला स्वतंत्र रूप से कार्य नहीं कर सकता |

प्रिय पाठको अगर आपको हमरा प्रयास अच्छा लगा या आप कोई सुझाव देना चाहते है तो यहाँ क्लिक करके कमेंट अवस्य करे –  click Here

मनोविज्ञान के सभी टॉपिक हिंदी में पढने के लिए यहाँ क्लिक करे – Click Here For Read psychology All Topic in Hindi

 

hindi varn vichar हिंदी वर्ण विचार

राजस्थान का परिचय About Rajasthan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *